Happy Diwali, Diwali Aartis
Diwali >> Aarti - Jaya Aadya Shakti Maa Arti

Jaya Aadya Shakti Maa Aarti is given below.
Diwali aartis are the special prayers sung by humans in order to please goddess Lakshmi and Lord Ganesha.

जय आद्या शक्ति माँ आर्ति381;या शक्ति माँ आर्ति


जय आद्या शक्ति, माँ जय आद्या शक्ति
अखंड ब्रहमानन्द दीपव्य, पनवे प्रगत्या माँ
ओम जायो जयो माँ जगदाम्बे
द्वितीया महसरूप शिवशकथि जनु, माँ शिवशकथि जनु
ब्रह्मा गणपति गये, ब्रह्मा गणपति गये
हरदई हर माँ
ओम जयो माँ जगदाम्बे

तृतिया त्रण सरूप त्रिभुवन माँ बेटा, माँ त्रिभुवन माँ बेटा
दया थकी करवेली, दया थकी करवेली
उतरवेनिमा
ओम जयो जयो माँ जगदाम्बे

चौथे चतुरा मलक्ष्मी माँ, सच्राचल व्याप्य
चर भुजा चो दिशा, चर भुजा चो दिशा
प्रग्त्य दक्षिण माँ
ओम जयो जयो माँ जगदाम्बे

पंचमे पंचरुषि पंचमि गुणपद्म, माँ पंचमि गुणपद्म
पंचत्व त्या सोशिये, पंचत्व त्या सोशिये
पंचेतत्वों माँ
ओम जयो जयो माँ जगदाम्बे

षष्ठी तु नारायणी महिसासुर मर्यों, माँ महिसासुर मर्यों
नर्नरी न रुपे, नर्नरी न रुपे
व्यापया सघाले माँ
ओम जयो जयो माँ जगदाम्बे

सप्तमी सप्त पटल संध्या सावित्री, माँ संध्या सावित्री
गौ गंगा गायत्री, गौ गंगा गायत्री
गौरि गीता माँ
ओम जयो जयो माँ जगदाम्बे

अष्टमी अष्ठा भुजाओ आई आनंदा, माँ आई आनंदा
सुनिवार मुनिवार जनम्य, सुनिवार मुनिवार जनम्य
देव दैत्योमा
ओम जयो जयो माँ जगदाम्बे

नवमी नवकुल नाग सेवे नवदुर्गा, माँ सेवे नवदुर्गा
नवरात्रि न पूजन, शिवरात्रि न अर्चन
किधा हर ब्रह्मा
ओम जयो जयो माँ जगदाम्बे

दष्मी दश अवतार जय विजयलक्ष्मी, माँ जय विजयलक्ष्मी
रमे रावण मर्या, रमे रावण मर्या
रावण मर्यों माँ
ओम जयो जयो माँ जगदाम्बे

एकादशी अगियार तात्यानिकामा, माँ तात्यानिकामा
कल्दुर्गा कालिका, कल्दुर्गा कालिका
शमा ने वामा
ओम जयो जयो माँ जगदाम्बे

बरसे कला रुप बहुचार अम्बा माँ, माँ बहुचार अम्बा माँ
असुर भैरव सौये, कल भैरव सोये
तर छे तुज माँ
ओम जयो जयो माँ जगदाम्बे

तेरसे तुल्जा रुप तु तरुणिमाता, माँ तु तरुणिमाता
ब्रह्मा विष्णु सदशिव, ब्रह्मा विष्णु सदशिव
गुण तरा गाता
ओम जयो जयो माँ जगदाम्बे

शिवभकती नि आरति जे कोई गाये, माँ जे कोई गाये
भने शिवनंद स्वामि, भने शिवनंद स्वामि
सुख संपाति पाशे,
हर काइलेशे जशे माँ अम्बा दुख हरशे
ओम जयो जयो माँ जगदाम्बे